बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न / Bearish Engulfing Candlestick Pattern Full details in hindi

मेरे प्रिय पाठकों पिछले कुछ लेखों में हम लोग सिंगल कैंडलस्टिक पैटर्न के सभी पैटर्न के बारे में विस्तार से समझा | अब हम सब डबल कैंडल स्टिक पैटर्न के बारे में अध्ययन कर रहे है | आज के इस अंक में हम सब बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न / Bearish Engulfing Candlestick Pattern के बारे में अध्ययन करेंगे | 

आज के इस लेख बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न / Bearish Engulfing Candlestick Pattern Full details in hindi में हम सब जानेंगे कि बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न क्या है, इसका आकार कैसा होता है, इसका निर्माण कहाँ होता तथा इस पैटर्न के पीछे ट्रेडर की सायकोलॉजी क्या होती है | इसके अलावा हम जानेंगे कि एक ट्रेडर को इस पैटर्न में इंट्री कब लेना चाहिए तथा टार्गेट, स्टॉप लॉस कहाँ लगाना चाहिए |

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न को समझने से पहले हम समझते है कि बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल किसे कहा जाता है |

Table of Contents

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल / Bearish Engulfing Candle

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल का निर्माण दो कैंडल के मिलने से होता है | इस कैंडल के निर्माण में दोनों कैंडल का सही रंग में होना अत्यंत आवश्यक है | इसमे पहला कैंडल बुलिश कैंडल होता है तथा दूसरा कैंडल बेयरिश कैंडल होता है | बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल में दूसरी कैंडल गैपअप ओपन होती है लेकिन उसके बाद की बिकवाली के कारण गैपअप ओपन होने वाली कैंडल एक बड़ी बेयरिश कैंडल में बदल जाती है |

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न / Bearish Engulfing Candlestick Pattern Full details in hindi

यदि यह दूसरी बेयरिश कैंडल यदि पहली बुलिश कैंडल को पूरी तरह से कवर कर ले तब इन दोनों कैंडल को संयुक्त रूप से बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल / Bearish Engulfing Candle कहा जाता है | इस कैंडल का निर्माण चार्ट में रेजिस्टेंस लेवल पर या अपट्रेंड में चल रहे शेयर के टॉप पर होता है | यह एक ट्रेंड रिवर्शल कैंडल है | इसके निर्माण के बाद तेज़ी के दौर का अंत माना जाता है | तरलता क्या है / Liquidity Meaning In Hindi

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल / Bearish Engulfing Candle की विशेषताए:-

  • बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल / Bearish Engulfing Candle कैंडल का निर्माण दो कैंडल के मिलने से होता है |
  • बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल में दोनों कैंडल का सही रंग में होना अत्यंत आवश्यक है |
  • Bearish Engulfing Candle पहले कैंडल का बुलिश तथा दूसरी कैंडल का बेयरिश होना अत्यंत आवश्यक है |
  • Bearish Engulfing Candle में दूसरी बेयरिश कैंडल, पहली बुलिश कैंडल को 100 प्रतिशत तक कवर कर लेती है |
  • बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल में दूसरी कैंडल गैपअप ओपन होता है | उसके बाद बिकवाली के कारण कैंडल, बड़ी बेयरिश कैंडल में बदल जाती है |
  • बेयरिश कैंडल का हाई ही बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल / Bearish Engulfing Candle का हाई होता है |
  • जब इस कैंडल का निर्माण अपट्रेंड में चल रहे शेयर के टॉप पर होता है तब इसे बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न / Bearish Engulfing Candlestick Pattern कहा जाता है |

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न / Bearish Engulfing Candlestick Pattern Full details in hindi

जब बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल / Bearish Engulfing Candle का निर्माण अपट्रेंड में चल रहे शेयर के टॉप पर बनता है तब इस चार्ट फार्मेशन को बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न / Bearish Engulfing Candlestick Pattern कहा जाता है |

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न / Bearish Engulfing Candlestick Pattern Full details in hindi

यदि इस कैंडल का निर्माण बिना किसी ट्रेंड के होता है तब इसे बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न नहीं कहा जाता है | बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न एक बेयरिश ट्रेंड रिवर्शल पैटर्न है जो अपट्रेंड में चल रहे शेयर की तेज़ी के समाप्त होने का संकेत देती है | हैमर कैंडलस्टिक पैटर्न

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न के निर्माण के पीछे की सायकोलॉजी:-

जब किसी कंपनी का शेयर लगातार अपट्रेंड में ट्रेड कर रहा होता है तब लोग शेयर को खरीदने के लिए लालची हो जाते है तथा वे कंपनी के शेयर में लगातार खरीदारी करते रहते है | ऐसे में एक लेवल ऐसा आता है जहाँ पर कंपनी का शेयर उसके इंट्रेंसिक वैल्यू से अधिक हो जाती है |

ऐसे में ट्रेडर बिकवाली के मौके तलाशने लगते है | ऐसे में जब शेयर गैप अप ओपन होता है तब बिकवाली का इंतजार कर रहे ट्रेडर को बिकवाली का मौका मिल जाता है | तथा वे बड़ी बिकवाली कर देते है इस कारण से गैपअप खुलने वाली कैंडल बड़ी, बेयरिश कैंडल में बदल जाती है |

चूँकि कंपनी में बड़े ट्रेडर ने बिकवाली आरंभ कर दी है अतः अब छोटे तथा मझले ट्रेडर भी बिकवाली में ट्रेड लेना या अपनी पहले से ली गयी खरीदारी के ट्रेड से एग्जिट होना आरंभ कर देते है | और इस प्रकार से कंपनी का शेयर तब तक के लिए डाउन ट्रेंड में चला जाता है जब तक कंपनी के शेयर अंडर वैल्यूड न हो जाये या कंपनी से सम्बंधित कोई शानदार खबर न आ जाये |

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न में ट्रेड कब लें?

चार्ट में बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न / Bearish Engulfing Candlestick Pattern के निर्माण हो जाने के बाद कंपनी के शेयर में मंदी का संकेत माना जाता है | इस पैटर्न के बन जाने के तत्काल बाद ट्रेड नहीं लिए जाता है बल्कि हमें पैटर्न के कन्फर्मेशन का इंतजार करना चाहिए | बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न के निर्माण हो जाने के ठीक बाद एक बेयरिश कैंडल कैंडल का निर्माण हो जाना इस पैटर्न को कन्फर्म करती है | इस बेयरिश कैंडल को पैटर्न कन्फर्मेशन कैंडल कहा जाता है | पोर्टफोलियो क्या है

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न में ट्रेड कब लें?

पैटर्न कन्फर्मेशन कैंडल के बाद बनने वाली कैंडल जैसे ही इस पैटर्न कन्फर्मेशन कैंडल का low  ब्रेक कर निचे जाती है वैसे ही ट्रेडर बिकवाली में ट्रेड ले सकते है | यह कैंडल जिस लेवल पर पैटर्न कन्फर्मेशन कैंडल का low ब्रेक करती है उस लेवल को एंट्री का लेवल कहा जाता है | पैटर्न कन्फर्मेशन कैंडल का low ब्रेक कर निचे जाने वाली कैंडल को एंट्री कन्फर्मेशन कैंडल कहा जाता है | कंसोलिडेशन पैटर्न (Consolidation Pattern) क्या है ?

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न / Bearish Engulfing Candlestick Pattern में टार्गेट कहाँ सेट करें?

एक समझदार ट्रेडर, ट्रेड लेने के तुरंत बाद टार्गेट तथा स्टॉप लॉस लगाते है | इस पैटर्न में ट्रेडर अपना टार्गेट एंट्री लेवल से बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल के हाई के अंतर जितना एंट्री पॉइंट से निचे लगाते है |

आईये टार्गेट को सेट करने के लिए एक उदाहरण का सहारा लेते है:-

इस उदाहरण को समझने के लिए हम मान कर चलते हैं कि बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न का हाई 1000 रुपये के लेवल पर है | अब हम मान कर चलते है कि इसके बाद बनने वाली पैटर्न कन्फर्मेशन कैंडल का हाई 991 तथा low 982 पर रुपये के लेवल पर है | 

अब हम मान लेते है कि चौथी, ट्रेड में एंट्री कन्फर्मेशन कैंडल, पैटर्न कन्फर्मेशन कैंडल के low(982) को ब्रेक डाउन कर निचे आ जाती है, तब ट्रेडर का बिकवाली में ट्रेड लेने के बाद

ट्रेडर का टार्गेट = ट्रेड में एंट्री का लेवल – (बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल का हाई – ट्रेड में एंट्री का लेवल)

ट्रेडर का टार्गेट = 982 – (1000 – 982)

ट्रेडर का टार्गेट = 982 – 18

ट्रेडर का टार्गेट = 964  रुपये |

अतः इस स्थिति में ट्रेडर अपना टार्गेट 964 रुपये पर लगायेंगे | 

टार्गेट बड़ा कैसे करें(how to increase target)

यदि आप पैटर्न के अनुसार 1:1 का टार्गेट लेकर एग्जिट होना चाहते है तो आप उपरोक्त उदाहरण के अनुसार एग्जिट हो सकते है | लेकिन यदि आप अपने ट्रेड के टार्गेट को बड़ा करना चाहते है तब आपको एग्जिट नहीं करना चाहिए तथा टार्गेट सेट नहीं करना चाहिए | ऐसे ट्रेडर चार्ट के छोटे टाइम फ्रेम में किसी ट्रेंड रिवर्शल पैटर्न की तलाश करते है | जैसे ही छोटे टाइम फ्रेम पर किसी ट्रेंड रिवर्शल पैटर्न दिखाई देता है, ट्रेडर वही पर एग्जिट कर लेता है | ट्रेडर का टार्गेट जैसे-जैसे बड़ा बनता जाता है वो अपने स्टॉप लॉस को ट्रेल करता रहता है | इस प्रकार से ट्रेडर बाज़ार के गिरावट का भरपूर मुनाफा ले सकते है | 

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न में स्टॉप लॉस सेट कहाँ करें? 

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न / Bearish Engulfing Candlestick Pattern में ट्रेडर को अपना स्टॉप लॉस बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल / Bearish Engulfing Candle के हाई पर लगाना चाहिए | उक्त उदाहरण की माने तो ट्रेडर अपना स्टॉप लॉस 1000 के लेवल पर लगायेंगे |

इस लेख से सम्बंधित प्रश्नोत्तरी:-

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल किसे कहा जाता है?

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल का निर्माण दो कैंडल के मिलने से होता है | इस कैंडल के निर्माण में दोनों कैंडल का सही रंग में होना अत्यंत आवश्यक है | इसमे पहला कैंडल बुलिश कैंडल होता है तथा दूसरा कैंडल बेयरिश कैंडल होता है | इसमे दूसरी कैंडल गैप अप ओपन होती है लेकिन उसके बाद की बिकवाली के कारण गैपअप ओपन होने वाली कैंडल एक बड़ी बेयरिश कैंडल में बदल जाती है |

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न किसे कहा जाता है?

जब बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल / Bearish Engulfing Candle का निर्माण अपट्रेंड में चल रहे शेयर के टॉप पर बनता है तब इस चार्ट फार्मेशन को बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न/बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न / Bearish Engulfing Candlestick Pattern कहा जाता है |

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न में स्टॉप लॉस सेट कहाँ करें?

बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न / Bearish Engulfing Candlestick Pattern में ट्रेडर को अपना स्टॉप लॉस बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल / Bearish Engulfing Candle के हाई पर लगाना चाहिए |

सारांश(Summary):-

मेरे प्रिय पाठकों आज के इस लेख बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न / Bearish Engulfing Candlestick Pattern Full details in hindi में हम सबने जाना कि बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडल क्या होता है, बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न क्या है, इसके निर्माण के पीछे ट्रेडर की कौन सी सायकोलॉजी कार्य करती है | इसके साथ हम सबने जाना कि इस पैटर्न में ट्रेडर अपना टार्गेट तथा स्टॉप लॉस कहाँ लगाते है |

मै आशा करता हूँ कि अब आपको बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न / Bearish Engulfing Candlestick Pattern में ट्रेड करने में किसी प्रकार की समस्या नहीं होगी | आपको हमारा यह पोस्ट कैसा लगा हमें कमेन्ट कर अवश्य बताये | यदि आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें |

यदि आपके पास हमारे लिए कोई सवाल हो तो हमें कमेन्ट करें या आप हमें contact@finohindi.com पर मेल कर सकते है | आप हमसे लगातर जुड़े रहने के लिए आप हमारे Facebook पेज, Twitter पेज तथा Telegram चैनल पर हमसे जुड़ सकते है |

🔆🔆🔆🔆🔆

Sharing Is Caring:

हेल्लो दोस्तों, मै पिछले 8 वर्षो से शेयर बाज़ार में निवेश तथा रिसर्च कर रहा हूँ | मै अपने अनुभव को Finohindi के माध्यम से आपके साथ सच्चाई के साथ सीधे तथा साफ शब्दों में बाटना चाहता हूँ | यदि आप शेयर बाज़ार में निवेश, ट्रेड करते है या आपकी शेयर बाज़ार में रूचि है तो आप सही जगह पर है

4 thoughts on “बेयरिश एन्गल्फिंग कैंडलस्टिक पैटर्न / Bearish Engulfing Candlestick Pattern Full details in hindi”

  1. Very nice post. I just stumbled upon your weblog and wanted to say that I have really enjoyed browsing your blog posts.
    In any case I will be subscribing to your feed and I hope you write again very soon!

    Reply
  2. สล็อตแตกง่าย เป็นหนึ่งในประเภทของเกมคาสิโนออนไลน์ที่นักพนันมาทุกท่านชื่นชอบ เนื่องจากมีโอกาสในการชนะรางวัลและรับเงินรางวัลใหญ่ได้สูง แต่ควรทราบว่าไม่มีสูตรเฉพาะเจาะจงที่จะทำให้คุณชนะเสมอในสล็อตแตกง่าย เพราะเป็นเกมส์ของโชคลงมากกว่าความสามารถ

    Reply
    • आपने बहुत अच्छा कमेन्ट किया है भाई | काश मै आपकी भाषा को समझ पाता | आप किस देश से हो भाई

      Reply

Leave a Comment

Netweb Technologies India Limited IPO Full In Hindi स्टॉक स्प्लिट क्या है ? Stock Split Meaning in Hindi बोनस शेयर क्या है ? What is Bonus Share in Hindi इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है ? Intraday Trading Meaning Full Detail in Hindi डिविडेंट क्या है ? what is dividend. इसका लाभ कैसे लें