एकमुश्त निवेश क्या है / Lump Sum Investment कब करें?

दोस्तों, शेयर बाज़ार या म्यूचुअल फंड में निवेश करने के दो मुख्य तरीके है | एक तरीका है SIP (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) का तथा दूसरा तरीका है एकमुश्त निवेश का | ज्यादातर निवेशक अपने निवेश की स्ट्रेटजी में कन्फ्यूज रहते है | वे ये तय नहीं कर पाते है है कि उन्हें बाज़ार में SIP के तहत निवेश करना चाहिए या एकमुश्त रकम निवेश करना चाहिए |

दरअसल जो लोग कन्फ्यूज होते है उन्हें SIP तथा एकमुश्त निवेश (Lump Sum Investment) के बारे में पता ही नहीं होता है | तो आज के अपने इस लेख एक मुस्तनिवेश क्या है / Lump Sum Investment कब करें? में हम सब एक मुस्त निवेश के बारे में विस्तार से जानेंगे | आज के इस लेख में हम जानेंगे कि एक मुस्त निवेश क्या होता है?, क्या एकमुश्त निवेश करना सही होता है?, यदि सही है तब कब एक मुस्त निवेश सही होता है? 

एकमुश्त निवेश क्या है / Lump Sum Investment Kya Hai

शेयर बाज़ार, म्यूचुअल या किसी एसेट में किया गया बड़ा निवेश एक मुस्त निवेश (Lump Sum Investment) कहलाता है | बड़े निवेश की परिभाषा अलग – अलग निवेशक के लिए अलग – अलग हो सकती है | इसमें निवेश की धनराशि छोटे निवेशक के लिए कम तथा बड़े निवेशक के लिए अधिक हो सकती है | आईये इसे हम एक उदाहरण की सहायता से समझाने का प्रयास करते है |

अब जैसे मान लीजिये कि रमेश के पास 10 लाख रुपये की सरप्लस पूंजी है जिसे वो शेयर बाज़ार या म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहता है | अब रमेश ने अपने 10 लाख रुपये को एक साथ निवेश कर दिया तो इसे एक मुस्त निवेश कहा जायेगा |

अब ये आपकी क्षमता पर निर्भर करता है कि आपके पास कितनी सरप्लस पूंजी है | दुसरे शब्दों में कहा जाय तो अपने सरप्लस पूंजी को किसी एसेट में एक साथ निवेश करना एक मुस्त निवेश कहलाता है | डबल टॉप चार्ट पैटर्न

क्या एक मुस्त निवेश करना सही है? / Is It Right to Invest Lump Sum

इसे समझने के दो नजरिये है | एकमुश्त निवेश करना कभी कभी अच्छा होता है लेकिन कभी कभी अच्छा नहीं होता है | इसलिए एक निवेशक को एक मुस्त निवेश बड़ी सावधानी से करनी चाहिए |

एकमुश्त निवेश करना कब सही है? / When is it Right to Invest Lump Sum

वैसे बाज़ार के अनुभवी निवेशक द्वारा एक मुस्त निवेश से बचने की सलाह दी जाती है | लेकिन फिर भी कुछ स्थिति को ध्यान में रखे तो एक मुस्त निवेश उतना बुरा नहीं होता है | मेरा गणित कहता है कि जब बाज़ार में भारी डिस्काउंट हो, कंपनी के शेयर तथा म्यूचुअल फंड अपने उच्चतम स्तर से 35 प्रतिशत या इससे अधिक निचे आ गए हो तब अच्छी फंडामेंटल के कंपनी में या अच्छे म्यूचुअल में एकमुश्त निवेश करने में कोई हर्ज नहीं है | डायवर्सिफिकेशन क्या है ?

क्या एकमुस्त निवेश करना सही है? / Is it right to invest lump sum

इसे आप खुद अपने तर्क से समझ सकते है | अब आप खुद ही समझे यदि बाज़ार अपने उच्चतम स्तर से 30-35 प्रतिशत निचे है तथा आपके पसंदीदा कंपनी के शेयर या फंड बहुत सस्ते में मिल रहे है तब आपके लिए कौन सा निवेश सही होगा?

यदि आप इस स्थिति में SIP आरंभ करेंगे तब आपके एक-दो क़िस्त निवेश होने के बाद ही बाज़ार रिकवर कर जायेगा तथा आप बाज़ार के उस गिरावट भरपूर लाभ नहीं उठा पाएंगे | लेकिन यदि आप यहाँ पर एक मुस्त निवेश करते है तब आप बाज़ार के गिरावट का भरपूर लाभ उठा पाएंगे | निफ्टी 50 में ट्रेडिंग कैसे करें

एकमुश्त निवेश कब सही नहीं है? / When is Lump Sum Investment Not Right?

लंप सम (एकमुश्त) निवेश कब करें ये जानने से ज्यादा जरूरी हमें ये जानना है कि हम एकमुश्त निवेश कब न करें |

एकमुश्त निवेश कब सही नहीं है? / When is Lump Sum Investment Not Right?

हमें यह ध्यान रखने की आवश्यकता है कि जब बाज़ार/ कंपनी के शेयर/ म्यूचुअल फंड अपने उच्चतम लेवल पर हो तब एक साथ बड़ा निवेश नहीं करना चाहिए | क्योकि हमें बड़ा रिटर्न कमाने से ज्यादा जरूरी यह है कि हम अपने निवेश में नुकसान कम से कम होने दें | शेयर मार्केट से अमीर कैसे बने

इस लेख से सम्बंधित प्रश्नोत्तरी:-

एकमुस्त निवेश क्या है

अपने सरप्लस पूंजी को किसी एसेट में एक साथ निवेश करना एक मुस्त निवेश कहलाता है | दुसरे शब्दों में कहा जाय तो शेयर बाज़ार, म्यूचुअल या किसी एसेट में किया गया बड़ा निवेश एक मुस्त निवेश (Lump Sum Investment) कहलाता है |

क्या एक मुस्त निवेश करना सही है?

इसे समझने के दो नजरिये है | एकमुस्त निवेश करना कभी कभी अच्छा होता है लेकिन कभी कभी अच्छा नहीं होता है | इसलिए एक निवेशक को एक मुस्त निवेश बड़ी सावधानी से करनी चाहिए |

एकमुस्त निवेश करना कब सही है?

जब बाज़ार में भारी डिस्काउंट हो, कंपनी के शेयर तथा म्यूचुअल फंड अपने उच्चतम स्तर से 35 प्रतिशत या इससे अधिक निचे आ गए हो तब अच्छी फंडामेंटल के कंपनी में या अच्छे म्यूचुअल में एकमुस्त निवेश करने में कोई हर्ज नहीं है |

एकमुस्त निवेश कब सही नहीं है?

हमें यह ध्यान रखने की आवश्यकता है कि जब बाज़ार/ कंपनी के शेयर/ म्यूचुअल फंड अपने उच्चतम लेवल पर हो तब एक साथ बड़ा निवेश नहीं करना चाहिए | क्योकि हमें बड़ा रिटर्न कमाने से ज्यादा जरूरी यह है कि हम अपने निवेश में नुकसान कम से कम होने दें |

आज हमने जाना(Today We Learned)

मेरे प्रिय पाठकों, आज़ के अपने इस लेख एकमुश्त निवेश क्या है / Lump Sum Investment कब करें? में हम सबने जाना कि एक मुश्त निवेश क्या होता है?, क्या एकमुश्त निवेश करना सही होता है?, यदि सही है तब कब एक मुश्त निवेश सही होता है? 

हम आशा करते है कि अब आपको एकमुश्त निवेश से सम्बंधित सभी प्रश्नों के उत्तर मिल गए होंगे | आपको हमारा यह पोस्ट कैसा लगा हमें कमेन्ट कर अवश्य बताये | यदि आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें |

यदि आपके पास हमारे लिए कोई सवाल हो तो हमें कमेन्ट करें या आप हमें contact@finohindi.com पर मेल कर सकते है | आप हमसे लगातर जुड़े रहने के लिए आप हमारे Facebook पेज, Twitter पेज तथा Telegram चैनल पर हमसे जुड़ सकते है |

🔆🔆🔆🔆🔆

Sharing Is Caring:

हेल्लो दोस्तों, मै पिछले 8 वर्षो से शेयर बाज़ार में निवेश तथा रिसर्च कर रहा हूँ | मै अपने अनुभव को Finohindi के माध्यम से आपके साथ सच्चाई के साथ सीधे तथा साफ शब्दों में बाटना चाहता हूँ | यदि आप शेयर बाज़ार में निवेश, ट्रेड करते है या आपकी शेयर बाज़ार में रूचि है तो आप सही जगह पर है

Leave a Comment

स्पिनिंग टॉप कैंडलस्टिक पैटर्न / Spinning Top Candlestick Pattern आवधिक कॉल नीलामी क्या है / Periodic Call Auction in Hindi मॉर्निंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न / Morning Star Candlestick Pattern In Hindi GSM कैटेगरी क्या है / GSM Category Meaning In Hindi तीन काले कौवे कैंडलस्टिक पैटर्न / Three Black Crows Candlestick Pattern Full Details In Hindi