निफ्टी 50 में ट्रेडिंग कैसे करें / nifty 50 me trading kaise karen

दोस्तों यदि आप शेयर बाज़ार में कार्य करते है या शेयर बाज़ार कही से सुनते होंगे तब आपने निफ्टी 50 तथा निफ्टी बैंक के बारे में अवश्य सुना होगा | निफ्टी 50 तथा निफ्टी बैंक नेशनल स्टॉक एक्सचेंज(NSE) के महत्वपूर्ण इंडेक्स है | जब भी कोई ट्रेडर शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग करने के इरादे से शेयर बाज़ार में चार्ट के टेक्निकल तथा चार्ट के पैटर्न को समझते है तो वे निफ्टी 50 या निफ्टी बैंक के चार्ट का गहराई से अध्ययन करते है |

तो आज के इस लेख निफ्टी 50 में ट्रेडिंग कैसे करें / nifty 50 me trading kaise karen में हम सब निफ्टी 50 में ट्रेडिंग कैसे करें, को विस्तार से समझेंगे | आज के इस लेख में हम सब जानेगे कि निफ्टी 50 क्या है, निफ्टी 50 में ट्रेडिंग का आप्शन कैसे ओपन करें, निफ्टी 50 में ट्रेडिंग कैसे करें, के साथ-साथ हम समझेंगे कि निफ्टी 50 में ट्रेडिंग करने में कौन-कौन सी सावधानी बरतनी चाहिए |

तो आईये इस क्रम में हम सबसे पहले ये समझते है कि निफ्टी 50 क्या है?

निफ्टी 50 क्या है / Nifty 50 Kya Hai

निफ्टी 50, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज(NSE) का एक महत्वपूर्ण इंडेक्स है, जो नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के टॉप 50 कंपनियों से बनाया गया है | निफ्टी 50 शब्द नेशनल तथा फिफ्टी(National Fifty) से मिलकर बना है | इस इंडेक्स(सूचकांक) में कुल 14 अलग-अलग सेक्टर के कंपनियों को शामिल किया गया है | यह सूचकांक भारत के राष्ट्रिय सूचकांको में से एक है जो सर्वाधिक लोकप्रिय है | भारत का दूसरा राष्ट्रिय सूचकांक बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक सेंसेक्स है | 

निफ्टी 50 में ट्रेडिंग की तैयारी / Preparation for trading in Nifty 50

दोस्तों यदि आप निफ्टी 50 में ट्रेडिंग करना चाहते है तब आपको सबसे पहले निम्न चरणों का पालन करना आवश्यक है |

  1. अपना एक डीमेट अकाउंट ओपन करना |
  2. अपने डीमेट खाते में पूंजी डालना |
  3. अपने डीमेट खाते में फ्यूचर एंड आप्शन के सेगमेंट को एक्टिवेट करना |
  4. शेयर बाज़ार में चार्ट के टेक्निकल तथा कैंडलस्टिक पैटर्न को समझना |
  5. ट्रेडिंग के हुनर को सिखाना |
  6. पेपर ट्रेडिंग कर खुद को अजमाना |
  7. आरंभ में कम पूंजी के साथ ट्रेड करना |

डीमेट अकाउंट खोलना(Opening a Demat Account)

मेरे भाई, यदि आप निफ्टी 50 में ट्रेडिंग करने के इरादे से शेयर बाज़ार में कूदना चाहते है तो सबसे पहले आपको अपना एक डीमेट अकाउंट खोलना पड़ेगा | डीमेट खाता या डिमैटेरियलाइज्ड अकाउंट एक ऐसा खाता होता है जो आपके द्वारा ख़रीदे गए शेयर को इलेक्ट्रॉनिकली रूप में संरक्षित कर रखने के साथ-साथ आपके द्वारा किये गए ट्रेड का लेखा-जोखा रखता है |

पहले के ज़माने में हम किसी भी कंपनी के शेयर को खरीदकर उसे शेयर सर्टिफिकेट के रूप में रखते थे लेकिन अब समय बदल गया है, आज के इस इन्टरनेट के दौर में सब कुछ ऑनलाइन हो गया है | आप अपने एक डीमेट अकाउंट में कई सारे कंपनी के शेयर को खरीकर इलेक्ट्रॉनिकली रूप में स्टोर कर सकते है तथा हर ट्रेडिंग दिवस के हलचल/मूवंनेट को अपने डीमेट अकाउंट में देख सकते है |

आप किसी भी ब्रोकिंग फर्म के साथ अपना एक डीमेट खाता खोल सकते है | आज कल कई सारे डिस्काउंट ब्रोकिंग कंपनी उभरकर सामने आये है | आप अपनी सुविधा के अनुसार किसी भी ब्रोकिंग कंपनी के साथ अपना डीमेट खाता खोल सकते है | आज के ज़माने में यह बहुत ही आसान है | आप कुछ सामान्य चरणों का पालन करते हुए आधे घंटे के अन्दर अपना डीमेट खाता खोल सकते है |  कुछ प्रमुख ब्रोकिंग कंपनी Zerodha, Angel One, 5 Paisa, Upstox (RKSV), ShareKhan है | सपोर्ट तथा रेजिस्टेंस क्या है ?

डीमेट खाता खोलने हेतु कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज:-

  1. आधार कार्ड
  2. मोबाइल का आधार से लिंक होना
  3. पैन कार्ड
  4. पैन कार्ड तथा आधार कार्ड का आपस में लिंक होना
  5. एक राष्ट्रिय बैंक में खाता
  6. एक कैंसल चेक या बैंक स्टेटमेंट

डीमेट खाते में पूंजी डालना(Funding Demat Account)

अब, अगर अपने अपना डीमेट अकाउंट ओपन कर लिया है, तब आपको अपने डीमेट खाते में कुछ पैसे जोड़ने पड़ेंगे | ऐसा करने से आप किसी कंपनी के शेयर या इंडेक्स में ट्रेडिंग कर पाएंगे | इसके लिए आपको अपने डीमेट खाते से अपने किसी राष्ट्रिय बैंक को जोड़ना होगा | इसके बाद आपको अपने डीमेट खाते में ‘फंड’ नाम का का एक लिंक दिखेगा | आपको इस लिंक पर क्लिक करना होगा, उसके बाद आपके सामने आप्शन खुल जायेंगे आप जितना चाहे उतना फंड अपने डीमेट खाते में जोड़ सकते है | शूटिंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न

फ्यूचर एंड आप्शन के सेगमेंट को एक्टिवेट करना(Activating the Future and Options segment)

यदि आपने अपना डीमेट अकाउंट खोल लिया है तथा आप निफ्टी 50 या फ्यूचर आप्शन में ट्रेड करना चाहते है तब आपको अपने डीमेट अकाउंट में फ्यूचर एंड आप्शन के सेगमेंट को एक्टिवेट करना होगा |

फ्यूचर एंड आप्शन के सेगमेंट को एक्टिवेट करना

इसके लिए सभी ब्रोकर कंपनिया में अलग-अलग तरीके से आप्शन मिलते है | आप अपने ब्रोकर पूछ कर से या यूट्यूब के माध्यम से इसे एक्टिवेट कर सकते है |

चार्ट के टेक्निकल तथा कैंडलस्टिक पैटर्न को समझना(Understanding technical and candlestick patterns on charts)

यदि आप पूरे मन से शेयर बाज़ार को तथा इसमे ट्रेडिंग को समझना चाहते है तब आपको शेयर बाज़ार में बनने वाले चार्ट का टेक्निकल एनालिसिस तथा कैंडलस्टिक पैटर्न को पुरे मन से समझना होगा | यही वो बिंदु है जो आपको शेयर बाज़ार से अमीर बनने में मदद करेंगे | एक ट्रेडर के लिए टेक्निकल एनालिसिस उसका हथियार होता है | यही टेक्निकल्स, ट्रेडर को बताते है कि कब खरीदारी करनी है और कब बिकवाली | सोते-सोते पैसे कमाए / Passive Income Ideas In India 2023

ट्रेडिंग के हुनर को सिखाना(teach trading skills)

शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग करने वाले ट्रेडर बाज़ार में खरीद-बिक्री करते है | आप्शन में ट्रेडिंग करते वाले ट्रेडर शेयर बाज़ार में कॉल तथा पुट को खरीदते तथा बेचते है | अब सवाल ये कि कोई शेयर को कब ख़रीदे तथा कब बेचे | सेबी के एक रिसर्च के अनुसार शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग करने वाले ट्रेडर में से 90 प्रतिशत ट्रेडर अंततः नुकसान में रहते है | 

इससे स्पष्ट है कि सही कीमत पर खरीद कर सही कीमत पर बेचना या सही कीमत पर बेच कर सही कीमत पर खरीदना आसान नहीं है | किसी शेयर या आप्शन को कब खरीदना है तथा कब बेचना है, यह समझ लेना ही ट्रेडर का हुनर है | जिस ट्रेडर को ये हुनर नहीं पता है वो शेयर बाज़ार के ट्रेडिंग में सफल नहीं हो पाते है | शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग के अलावा शेयर बाज़ार में निवेश कर पैसे कमाये जा सकते है | जो व्यक्ति शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग नहीं करना चाहते है, वो शेयर बाज़ार में निवेश कर पैसे कमाते है | प्राइस एक्शन ट्रेडिंग क्या है ?

पेपर ट्रेडिंग कर खुद को अजमाए(Try yourself with paper trading)

यदि आपको लगता है कि आपने शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग के हुनर को प्राप्त कर लिया है अर्थात आपको शेयर बाज़ार में चार्ट का टेक्निकल, कैंडलस्टिक पैटर्न तथा शेयर बाज़ार के इंडिकेटर का बेहतर ज्ञान हो गया है तब आप शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग कर सकते है लेकिन आपको शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग करने से पहले अपने हुनर को अजमाना चाहिए | इसके लिए पेपर ट्रेडिंग करना सबसे बेहतर उपाय है |

पेपर ट्रेडिंग कर खुद को अजमाए

पेपर ट्रेडिंग करना बहुत आसान होता है | इसमें ट्रेडर, रियल बाज़ार में ट्रेड नहीं लेते है बल्कि ट्रेडर के एनालिसिस के हिसाब से जो भी ट्रेड बनते है उन्हें वो एक पेपर पर नोट कर लेना चाहिए | अब जब भी उस ट्रेड का टार्गेट या स्टॉप लॉस हिट होता है उसे भी ईमानदारी के साथ उसी पेपर पर नोट कर लेना चाहिए | ऐसे करके ट्रेडर कम से कम 10 ट्रेड करना है तथा उसी पेपर पर नोट कर लेना है |

अब आपको इस ट्रेड का एनालिसिस करना है, जब आप ऐसे ट्रेड में कम से कम 65 प्रतिशत ट्रेड में लाभ कमा रहे हो तब आप शेयर बाज़ार के कैश सेगमेंट में या आप्शन के सेगमेंट में ट्रेड कर सकते है अन्यथा आपको और अधिक मेहनत की आवश्यकता है | Best 3 मल्टीबैगर स्टॉक्स (Multibagger Stocks) In Hindi

आरंभ में कम पूंजी के साथ ट्रेड करें(Trade with less capital in the beginning)

अब जब अपने अपना डीमेट खाता खोलकर ट्रेडिंग के हुनर को सीख लिया है, तब आप शेयर बाज़ार में कैश में ट्रेडिंग कर सकते है | लेकिन मेरी आपसे सलाह है कि आपको कैश में ट्रेडिंग की शुरुआत कम पूंजी के साथ करना चाहिए | कम पूंजी के साथ ट्रेडिंग करने पर आपको लर्निंग तथा अर्निंग दोनों होती रहेगी |

निफ्टी 50 में ट्रेडिंग कैसे करें / nifty 50 me trading kaise karen

अब जब आपने निफ्टी 50 में ट्रेडिंग के सभी बेसिक कार्य कर लिए है तब आप निफ्टी 50 में भी ट्रेडिंग कर सकते है | लेकिन निफ्टी 50 में ट्रेडिंग कैसे करें ? क्योकिं निफ्टी 50 कोई शेयर तो है नहीं, जिसे आसानी से ख़रीदा जा सके | निफ्टी 50 में ट्रेडिंग के लिए आपको आप्शन में ट्रेड करना होगा | आप्शन ट्रेडिंग को समझने के लिए आपको आप्शन चेन एनालिसिस को समझना चाहिए | आईये हम इस आप्शन को आसान भाषा में समझने का प्रयास करते है |

दरअसल फ्यूचर एंड आप्शन को वायदा बाज़ार भी कहा जाता है | इसका कारण है कि इसमे सभी ट्रेड वादों के आधार पर किया जाता है | इस वायदा बाज़ार को ऐसे समझते है | मान लीजिये आप किसान है तथा आप खेतों में टमाटर का बीज लगाते है | अब आपको इस बात का संसय है कि जब आपका टमाटर पक कर तैयार हो जायेगा तब बाज़ार में इसके क्या रेट मिलेंगे |

अब इस संसय को दूर करने के लिए आप टमाटर सॉस बनाने वाली किसी कंपनी के साथ इस बात का कॉन्ट्रैक्ट कर लेते है कि जब आपका टमाटर पाक कर तैयार हो जायेगा तब कंपनी आपसे सभी टमाटर X रुपये पर खरीद लेगी | अब आपका टमाटर पक जाने के बाद बाज़ार में कोई भी भाव हो, आपको टमाटर उसी कीमत पर कंपनी को बेचने है तथा कंपनी को उसी तय दर X रुपये पर खरीदने होंगे | ROCE क्या है? ROCE Meaning In Hindi

निफ्टी 50 में ट्रेडिंग कैसे करें / nifty 50 me trading kaise karen

कंपनी तथा किसान के मध्य में कॉन्ट्रैक्ट होने कारण इन दोनों का संसय था | किसान को संसय था कि उसका टमाटर पकने के बाद कही कम कीमत पर न बीके तथा कंपनी को संसय था कि कही बाद में टमाटर की कीमत बढ़ न जाये | इससे निपटने के लिए दोनों ने आपस में कॉन्ट्रैक्ट कर लिया | किसान तथा कंपनी ने भविष्य के लिए वादे कर लिए है, अब दोनों खुश है | ठीक इसी प्रकार शेयर बाज़ार में वायदा बाज़ार या फ्यूचर तथा आप्शन कार्य करते है |

अब शेयर बाज़ार के दृष्टिकोण से वायदा बाज़ार को समझते है:-

वायदा बाज़ार को समझने के लिए आप मान लीजिये कि निफ्टी 50 का इंडेक्स 21000 के कीमत पर ट्रेड कर रहा है | अब आपको लगता है कि बाज़ार में अगले हफ्ते तेज़ी आने वाली है या अगले महीने तक तेज़ी आयेगी तो आप अगले हफ्ते या अगले महीने का call आप्शन खरीद सकते है | ठीक इसी प्रकार यदि आपको लगता है कि अगले हफ्ते या अगले महीने बाज़ार में मंदी रहेगी तब आप निफ्टी 50 के 21000 के स्ट्राइक प्राइस का put आप्शन खरीद सकते है |

यदि आप 21000 के स्ट्राइक प्राइस का call आप्शन खरीदते है तथा बाज़ार तेज़ हो जाता है, जिस कारण से निफ्टी 50 के इंडेक्स की कीमत बढ़कर 22100 रुपये पर पहुँच जाती है तब आपको 22100 – 21000 = 1100 रुपये का लाभ होगा | लेकिन यदि आपके call आप्शन खरीदने के बाद आपका ट्रेड, आपके एनालिसिस के विपरीत दिशा में चला जाता है तथा बाज़ार में गिरावट आ जाती है और निफ्टी की किमत गिरकर 19500 आ जाती है तब आपको उतना ही नुकसान होगा जितना आपने प्रीमियम दिया था |

ठीक इसी प्रकार जब आपको लगता है कि बाज़ार में मंदी का दौर आने वाला है तथा अपने निफ्टी 50 के 21000 के स्ट्राइक प्राइस का put आप्शन खरीद लेते है तब यदि बाज़ार में मंदी आ जाती है तथा निफ्टी 50 की कीमत गिरकर 19500 रुपये पर आ जाती है तब आपको 21000 – 19500 = 1500 का मुनाफा होगा लेकिन यदि आपके एनालिसिस के विपरीत बाज़ार में तेज़ी आ जाती है तथा निफ्टी बढ़कर 22100 के लेवल पर जाती है तब आपको 22100 – 21000 = 1100 का नुकसान न होकर उतना ही नुकसान होगा जितना अपने प्रीमियम भुगतान किया था | डबल टॉप चार्ट पैटर्न

स्पष्ट है कि इस आप्शन सेगमेंट में ट्रेड करने पर ट्रेडर का लॉस सिमित होता है तथा प्रॉफिट असीमित | आपका ट्रेड गलत दिशा में जाने पर आपको अधिकतम उतना ही नुकसान हो सकता है जितना आपने प्रीमियम का भुगतान किया था लेकिन प्रॉफिट की कोई सीमा नहीं है | एनालिसिस के विपरीत ट्रेड जाने पर होने वाले नुकसान को कम करने के लिए ट्रेडर स्टॉप लॉस का प्रयोग करते है |

आप स्पॉट बाज़ार के जितने करीब का स्ट्राइक प्राइस का आप्शन खरीदेंगे, आपको उतने ही कम प्रीमियम का भुगतान करना पड़ता है | किसी भी स्ट्राइक प्राइस का प्रीमियम, समय तथा स्पॉट बाज़ार के कीमत के अनुसार बदलते रहते है | इसका अर्थ है कि यदि आपने किसी स्ट्राइक प्राइस का आप्शन खरीद लिया है और उस दिन के अंत तक बाज़ार में कोई हलचल न हो या बहुत मामूली हलचल हो या बाज़ार वोलेटाइल होकर अंत में ओपन कीमत के आस पास आकार क्लोजिंग देती है तब भी आपका प्रीमियम गिर जायेगा |

इस लेख से सम्बंधित प्रश्नोत्तरी

निफ्टी 50 में ट्रेडिंग कई तैयारी कैसे करें

दोस्तों यदि आप निफ्टी 50 में ट्रेडिंग करना चाहते है तब आपको सबसे पहले निम्न चरणों का पालन करना आवश्यक है |

अपना एक डीमेट अकाउंट ओपन करना |
अपने डीमेट खाते में पूंजी डालना |
अपने डीमेट खाते में फ्यूचर एंड आप्शन के सेगमेंट को एक्टिवेट करना |
शेयर बाज़ार में चार्ट के टेक्निकल तथा कैंडलस्टिक पैटर्न को समझना |
ट्रेडिंग के हुनर को सिखाना |
पेपर ट्रेडिंग कर खुद को अजमाना |

आज हमने जाना(Today We Learned)

आज निफ्टी 50 में ट्रेडिंग कैसे करें / Nifty 50 Me Trading Kaise Karen के इस लेख में हम सबने निफ्टी 50 में ट्रेड करने के सभी पहलू को विस्तार से जाना | डीमेट खाता खोलने से लेकर ट्रेडिंग के हुनर सीखने तक तथा फ्यूचर आप्शन में ट्रेड करने के तरीको के बारे में जाना |

मुझे आशा है कि अब आपको निफ्टी 50 में ट्रेडिंग से सम्बंधित समस्त प्रकार के सवालो के जवाब मिल गए होंगे | यदि आपको हमारा यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें |

यदि आपके पास हमारे लिए कोई सवाल हो तो आप हमें contact@finohindi.com पर मेल करें या आप हमें कमेन्ट भी कर सकते है | आप हमसे लगातर जुड़े रहने के लिए आप हमारे Facebook पेज, Twitter पेज तथा Telegram चैनल पर हमें Follow भी कर सकते है |

🔆🔆🔆🔆🔆

 

Sharing Is Caring:

हेल्लो दोस्तों, मै पिछले 8 वर्षो से शेयर बाज़ार में निवेश तथा रिसर्च कर रहा हूँ | मै अपने अनुभव को Finohindi के माध्यम से आपके साथ सच्चाई के साथ सीधे तथा साफ शब्दों में बाटना चाहता हूँ | यदि आप शेयर बाज़ार में निवेश, ट्रेड करते है या आपकी शेयर बाज़ार में रूचि है तो आप सही जगह पर है

Leave a Comment

GSM कैटेगरी क्या है / GSM Category Meaning In Hindi तीन काले कौवे कैंडलस्टिक पैटर्न / Three Black Crows Candlestick Pattern Full Details In Hindi बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज / Bombay Stock Exchange को समझे विस्तार से नेशनल स्टॉक एक्सचेंज क्या है? आईये जाने ! इन्वर्टेड हेड एंड सोल्डर कैंडलस्टिक पैटर्न क्या है / Inverted Head And Solder Candlestick Pattern kya hai