शेयर मार्केट से अमीर कैसे बने / Share Bazar Se Amir Kaise Bane. 7 गोल्डेन टिप्स

शेयर बाज़ार पैसों का अथाह सागर है | यही कारण है कि शेयर बाज़ार को थोडा बहुत समझने वाले लोग भी शेयर बाज़ार से बड़ा पैसा बनाना चाहते है | कुछ लोग तो शेयर बाज़ार से पैसे कमाने का अपना सपना इंट्राडे ट्रेडिंग से पूरा करने का प्रयास करते है तथा अपना बड़ा नुकसान करा लेते है |

क्या आपको पता है अब तक जिन व्यक्तियों ने शेयर बाज़ार से बड़ा पैसा बनाया है उन्होंने शेयर बाज़ार के कुछ नियमो का कडाई से पालन किया है | इन नियमो का पालन करना उतना कठिन भी नहीं है लेकिन बहुत जल्द अमीर बनने के लालच में आकार निवेशक अक्सर गलतियाँ कर बैठते है | 

आज के इस लेख “शेयर मार्केट से अमीर कैसे बने / Share Bazar Se Amir Kaise Bane. 7 गोल्डेन टिप्स” में हम सब शेयर बाज़ार के उन बिन्दुओ पर चर्चा करेंगे जिनको गंभीरता से न लेने के कारण अक्सर लोग अपना नुकसान करा लेते है तथा शेयर बाज़ार से बड़ा मुनाफा बनाने से चुक जाते है |

जिन्होंने शेयर बाज़ार की साइकोलॉजी को समझकर तथा निवेश के नियमो को समझ कर शेयर बाज़ार में नियमित निवेश किये है आज उनकी गिनती अरबपति व्यक्तियों में की जाती है | शेयर बाज़ार में निवेश कर अमीर बनने वाले व्यक्तियों की भारतीय सूची में राकेश झुनझुनवाला, राधाकृष्ण दमानी, रामदेव अग्रवाल, विजय केडिया तथा राधाकृष्ण दमानी जी प्रमुख है |

Table of Contents

शेयर मार्केट से अमीर कैसे बने / Share Bazar Se Amir Kaise Bane

शेयर मार्केट से अमीर कैसे बने या शेयर बाज़ार से करोड़ पति कैसे बने | शेयर बाज़ार से करोड़पति बनना बेहद आसान है लेकिन शर्त है कि शेयर बाज़ार में निवेश के नियमो का ख्याल रखते हुए निम्न टिप्स का भी खयाल अवश्य रखा जाय | जो व्यक्ति इन नियमो का पालन करते हुए शेयर बाज़ार में निवेश करते है उन्हें कम समय में बड़ा मुनाफा मिल जाता है | लेकिन समस्या ये है कि लोग जल्दी से पैसा बनाने के चक्कर में उच्च रिस्की(high risky) शेयर में निवेश कर देते है तथा अपना नुकसान करा लेते है |

शेयर बाज़ार में निवेश करना पैसिव इनकम का एक बेहतर साधन है | विदेशों में लोग शेयर बाज़ार में निवेश कर अमीर बनाते जा रहे है लेकिन भारत में शेयर बाज़ार की कुछ भ्रांतियों के कारण शेयर बाज़ार में निवेश से बचते आ रहे है | लेकिन अब वो समय आ गया है कि हम भारतीय भी शेयर बाज़ार में निवेश कर शेयर बाज़ार से करोडपति बने | तो आईये शेयर मार्केट से अमीर कैसे बने / Share Bazar Se Amir Kaise Bane के इस लेख में हम सब एक एक कर शेयर बाज़ार में निवेश के कुछ रूल्स को समझते है |

शेयर बाज़ार की सामान्य जानकारी(General information about stock market)

शेयर मार्केट से अमीर कैसे बने / Share Bazar Se Amir Kaise Bane के टिप्स में पहले नंबर पर आता है कि शेयर बाज़ार की बेसिक जानकारी प्राप्त करना | शेयर बाज़ार में कुछ भी निवेश करने से पहले शेयर बाज़ार के हर पहलू को विस्तार से अध्ययन करना चाहिए |

शेयर बाज़ार की सामान्य जानकारी

ये सही है कि शेयर बाज़ार पैसो का अथाह सागर है लेकिन यदि आप शेयर बाज़ार की सामान्य जानकारी का अध्ययन किये बिना तथा निवेश के नियमों का पालन किये बिना शेयर बाज़ार में निवेश करेंगे तब निश्चय ही आप अपना नुकसान करा लेंगे तथा शेयर बाज़ार को भला बुरा कहते हुए शेयर बाज़ार की दुनिया को अलविदा कर देते है | 

शेयर बाज़ार के बेसिक जानकारी का अर्थ शेयर बाज़ार के इंडिकेटर, कंपनी का फंडामेंटल एनालिसिस, कंपनी के शेयर का टेक्निकल एनालिसिस, चार्ट एनालिसिस, PE रेशियों क्या है, शेयर बाज़ार में सपोर्ट तथा रेजिस्टेंस क्या है, शेयर बाज़ार के शेयर को बेचने तथा खरीदने का उत्तम समय कौन सा है, एडवांस/डिक्लाइन रेशियो क्या है, स्टॉप लॉस क्या है, डिविडेंट क्या है, पोर्टफोलियो क्या है इसे कैसे बनाये, के साथ साथ बहुत सारे ऐसे बिंदु होते है जिन्हें आप समझ कर शेयर बाज़ार के किसी भी कंपनी का बेहतर तरीके से एनालिसिस कर पाएंगे | कैंडलस्टिक पैटर्न

लंबे समय के लिए पैसा निवेश करें(invest money for long term)

शेयर मार्केट से अमीर कैसे बने / Share Bazar Se Amir Kaise Bane के टिप्स में दुसरे नंबर पर आता है कि शेयर बाज़ार में लंबे समय तक निवेशित रहना | जब भी आप शेयर बाज़ार में लिस्टेड किसी कंपनी का फंडामेंटल तथा टेक्निकल आपको पसंद आता है तथा आप उस कंपनी में निवेश करना चाहते है तब आप उस कंपनी में लंबे समय तक लिए निवेश करें | जब आप किसी कंपनी के फंडामेंटल को देख कर निवेश करते है तो इसका अर्थ है कि आपको कंपनी का बिजनेस तथा बिजनेस का फ्यूचर अच्छा नज़र आ रहा है | आपको ऐसा लग रहा है कि आने वाले दिनों में कंपनी का बिजनेस तेज़ी से ग्रो कर सकता है |

अब मान लीजिये कि आपने इस कंपनी के शेयर को खरीद लिया | अब यदि बाज़ार के ख़राब सेंटिमेंट या किसी बाहरी न्यूज के कारण यदि कंपनी का शेयर निचे गिरने लगता है तब भी आपको बिलकुल नहीं घबराना चाहिए क्योकि आपने कंपनी के फंडामेंटल को देख कर कंपनी का शेयर ख़रीदा है न कि बाज़ार का सेंटिमेंट या किसी बाहरी न्यूज के कारण |

लंबे समय के लिए पैसा निवेश करें(invest money for long term)

कंपनी के शेयर, जब बाज़ार के ख़राब सेंटिमेंट या किसी बाहरी न्यूज के कारण निचे गिरते है तब आपको कंपनी के शेयर में बिकवाली न करके सपोर्ट के लेवल के आस पास खरीदारी करना चाहिए | लंबे समय तक के निवेश का अर्थ एक या दो साल नहीं होता है | लंबे समय तक निवेश का अर्थ 5 वर्ष या उसके ऊपर माना जाता है | 

जब आप किसी कंपनी के शेयर को बाज़ार के सेंटिमेंट या किसी न्यूज को देख कर कोई शेयर लिया है तब इसे ट्रेडिंग कहा जायेगा निवेश नहीं | बाज़ार के सेंटिमेंट या किसी न्यूज का असर थोड़े समय के लिए होता है अतः यदि आपने इनके आधार पर कोई शेयर लिया है तब आपको अपने टेक्निकल एनालिसिस के अनुसार टार्गेट या स्टॉप लॉस हिट हो जाने के बाद ट्रेड से एग्जिट ले लेना चाहिए | म्यूचुअल फंड क्या है ?

शेयर बाजार में गिरावट होने पर निवेश करें(Invest when the stock market falls)

शेयर मार्केट से अमीर कैसे बने / Share Bazar Se Amir Kaise Bane के टिप्स में तीसरे नंबर पर आता है कि शेयर बाज़ार में मंदी या गिरावट के दौर में निवेश करना चाहिए | यदि आपको शेयर बाज़ार के ग्रोथ का बढ़िया लाभ लेना है तब आपको शेयर बाज़ार के गिरावट में ही अपनी मनपसंद कंपनी के शेयर खरीद कर निवेश करना चाहिए | जब किसी ख़राब सेंटिमेंट के कारण कंपनी के शेयर निचे गिरते है तब बाज़ार का सेंटिमेंट अच्छा हो जाने पर कंपनी का शेयर उतनी ही तेज़ी से ऊपर भी भागने लगते है | 

किसी कंपनी के शेयर में दो प्रकार की गिरावट होती है | पहली गिरावट तो तब होती है जब कंपनी के फंडामेंटल खराब हो जाते है | कंपनी के फंडामेंटल से अर्थ कंपनी के इन्टरनल प्राबलम से है | दूसरी गिरावट तब होती है जब किसी बाहरी कारण की वजह से कंपनी के प्रॉफिट प्रभावित होता है या प्रोफिट के प्रभावित होने का अंदेशा होता है तब भी कंपनी के शेयर की कीमतों में गिरावट होता है | रियल एस्टेट में निवेश करके अमीर कैसे बने

शेयर बाजार में गिरावट होने पर निवेश करें(Invest when the stock market falls)

जब कंपनी के फंडामेंटल खराब होने के कारण कंपनी के शेयर में गिरावट हो रहा होता है तब कंपनी के शेयर में निवेश नहीं करना चाहिए | लेकिन जब कंपनी के शेयर में किसी बाहरी कारणों की वजह से गिरावट हो रही हो या गिरावट का कारण अस्थायी हो तब कंपनी के शेयर में निवेश किया जाना उचित होता है |

किसी भी कंपनी के मैनेजमेंट, कंपनी की आर्थिक स्थिति, शेयर का उचित मूल्य ,कंपनी के फ्यूचर प्लान, बैलेंस शीट, फाइनेंशियल स्टेटमेंट, कंपनी का बिजनेस मॉडल के साथ कंपनी के भविष्य ग्रोथ का अध्ययन करना उस कंपनी का फंडामेंटल एनालिसिस करना कहा जाता है |

बड़ी कंपनी में बड़ा तथा छोटी कंपनी में छोटा निवेश

शेयर मार्केट से अमीर कैसे बने / Share Bazar Se Amir Kaise Bane के टिप्स में चौथे नंबर पर आता है बड़ी कंपनी में बड़ा तथा छोटी कंपनी में छोटा निवेश करना | शेयर बाजार में छोटी, मध्यम तथा बड़ी, सभी प्रकार की कंपनी होती है | जो कंपनी जीतनी छोटी होती है वो कंपनी उतनी ही रिस्की होती है | जो कंपनी जीतनी बड़ी तथा ब्लूचिप होती है उसमे रिस्क उतना ही कम होता है |

छोटी कंपनी में बड़ा रिस्क होता है लेकिन जब बाज़ार तेज़ होता है ये कम समय में ही कई गुना रिटर्न दे देता है | जो कंपनी मध्यम आकार की होती है उनमे मध्यम रिस्क होता है, अर्थात छोटी कंपनी से कम तथा बड़ी कंपनी से अधिक रिस्क होता है | इसी प्रकार इन मिड कैप कंपनी में स्माल कैप की कंपनी से कम रिटर्न मिलता है लेकिन लार्ज कैप की कंपनी से अधिक रिटर्न मिलता है | डिविडेंट क्या है ? what is dividend

लार्ज कैप की कंपनी में रिटर्न कम मिलता है लेकिन रिस्क भी कम से कम होता है | छोटी कंपनी में वोलैटिलिटी (Volatility) अधिक होती है | यदि आप इन छोटी कंपनी में अपने पोर्टफोलियो का अधिकतम निवेश कर देंगे तब आपका पोर्टफोलियो भी अधिक वोलैटाईल हो जायेगा | ऐसी हालत में जब कभी बाज़ार में मंदी का दौर आता है तब आपका पोर्टफोलियो में बड़ी गिरावट होती है | 

इसी कारण से बड़े-बड़े निवेशक तथा अनुभवी लोगों द्वारा सलाह दिया जाता है कि नए निवेशक को अपने पोर्टफोलियो का 55 से 60 प्रतिशत तक लार्ज कैप की कंपनी में निवेश करना चाहिये | 30 से लेकर 35 प्रतिशत तक मिड कैप की कंपनी में तथा 10 से लेकर 15 प्रतिशत तक ही स्माल कैप की कंपनी में निवेश करना चाहिए | 

लेकिन ज्यादातर नए निवेशक कम समय में अधिक लाभ कमाने के चक्कर में स्माल कैप या हाई रिस्की कंपनी में अपने निवेश का अधिकतम निवेश कर देते है | परिणाम स्वरुप बाज़ार की तेज़ी में उन्हें बड़ा रिटर्न मिल जाता है लेकिन जब बाज़ार में मंदी का दौर आ जाता है या कंपनी से सम्बंधित जब कोई ख़राब न्यूज आ जाती है तब आपका पोर्टफोलियो बड़ी तेज़ी से निचे गिरने लगता है | ऐसे में निवेशक का मनोबल टूट जाता है और वो शेयर बाज़ार से एग्जिट होने का विचार करने लगते है | बोनस शेयर क्या है ? What is Bonus Share in Hindi

तेज़ी से बढ़ रहे कंपनी में निवेश करें(Invest in fast growing companies)

शेयर मार्केट से अमीर कैसे बने / Share Bazar Se Amir Kaise Bane के टिप्स में पांचवे नंबर पर आता है ग्रोविंग कंपनी में निवेश करना | शेयर बाज़ार में 5000 से अधिक कंपनी शेयर लिस्टेड है | कोई कंपनी बड़ी है, तो कोई छोटी | कोई कंपनी 5 से 10 प्रतिशत की ग्रोथ दर्ज करती है तो कोई 60 से अधिक प्रतिशत तक सेल्स तथा प्रॉफिट में ग्रोथ दर्ज करते है | सामान्यतः छोटी तथा स्माल कैप की कंपनिया ही 60 प्रतिशत से अधिक ग्रोथ दर्ज कर पाती है | लेकिन कुछ लार्ज कैप तथा मिड कैप की कंपनिया अपने समतुल्य कंपनियों से बेहतर ग्रोथ कर रही होती है |

जिस कंपनी का प्रॉफिट जीतनी तेज़ी से ग्रो करता है उस कंपनी का शेयर उतनी ही तेज़ी से उपर भागता है | इसलिए हमें ऐसी कंपनी में निवेश करना चहिये जो अपने सेक्टर की लीडर कंपनी हो तथा जिनमे ग्रोथ बढिया हो | जैसे – टाइटन कंपनी, बजाज फाइनेंस, polycab, दीपक नाईट्रेट, एस्ट्रल लिमिटेड इत्यादि | शेयर बाज़ार में कुछ कंपनिया ऐसी है जिनका सेक्टर तो ग्रोविंग है लेकिन कंपनी का प्रॉफिट या सेल्स ग्रोविंग नहीं है | ऐसे कंपनी में निवेश से बचना चाहिए | जैसे – विप्रो, इत्यादि |

भीड़ में निवेश से बचे(Avoid investing in the crowd)

शेयर मार्केट से अमीर कैसे बने / Share Bazar Se Amir Kaise Bane के टिप्स में छठे नंबर पर आता है भीड़ में निवेश से बचना | दुनिया के महान निवेशक वॉरेन बफेट सर का कहना है कि एक समझदार निवेशक भागते शेयर को पकड़ने की कोशिश नहीं करते है | एक समझदार निवेशक शेयर बाज़ार में गिरावट का इंतजार करता है | जैसे ही किसी अच्छे कंपनी का सेंटिमेंट या बाज़ार का मूड ख़राब हो जाता है वैसे ही निवेशक कंपनी के शेयर में धीरे-धीरे निवेश करना आरंभ कर देते है | 

भीड़ में निवेश से बचे(Avoid investing in the crowd)

जब किसी कंपनी का शेयर तेज़ी से ऊपर जाता है तब कुछ समय बाद कंपनी के शेयर में प्रॉफिट की बुकिंग भी की जाती है | जब कंपनी का शेयर में प्रॉफिट की बुकिंग होने के बाद अपने सपोर्ट के लेवल पर आ जाता है तब आपको कंपनी के शेयर में धीरे धीरे निवेश करना आरंभ कर देना चाहिए | Best 3 मल्टीबैगर स्टॉक्स (Multibagger Stocks) In Hindi

वैल्यूएशन का एनालिसिस कर निवेश करें(Invest after analyzing the valuation)

शेयर मार्केट से अमीर कैसे बने / Share Bazar Se Amir Kaise Bane के टिप्स में सांतवे नंबर पर आता है कंपनी के सही वैल्यूएशन का एनालिसिस कर निवेश करना | आपने देखा होगा कि कुछ कंपनियां का PE रेशियो 10 के आस पास होता है तब भी कंपनी के शेयर में तेज़ी नहीं आती है | लेकिन कुछ कंपनी का PE रेशियों 100 से भी अधिक होता है, लेकिन इन कंपनी के शेयर में तेज़ी बनी रहती है | इसका कारण यह है उन कंपनी का वैल्यूएशन | दर असल शेयर बाज़ार सभी कंपनी की उनकी ग्रोथ के अनुसार एक वैल्यूएशन तय करके चलती है | 

सामान्यतः जिन कंपनियों के प्रॉफिट तथा सेल्स ग्रोथ कंसिस्टेंट(लगातर, साल दर साल ग्रोविंग) रहता है उन कंपनियों को बाज़ार अच्छी वैल्यूएशन देता है, लेकिन जिन कंपनियों का प्रॉफिट तथा सेल्स ग्रोथ कंसिस्टेंट नहीं रहता है उन कंपनियों को बाज़ार अपेक्षाकृत कम वैल्यूएशन देकर चलता है |

जैसे वेदांता शेयर बाज़ार में लिस्टेड एक बड़ी कंपनी है जो माइनिंग के क्षेत्र में अपना कारोबार करती है | इसकी एक सायकिल होती है | अतः कंपनी का प्रॉफिट कभी कभी बहुत तेज़ी से ऊपर चला जाता है तो कभी-कभी इस कंपनी का प्रॉफिट बड़ी तेज़ी से निचे गिर जाता है | वही एक दूसरी कंपनी है D-mart है जो अपने रेवेन्यु तथा प्रॉफिट में में लगातर बृद्धि कराती जा रही है | यही कारण है कि वेदांता का PE रेशियों 10 के आस पास है तथा D-mart का PE 100 के आस पास कार्य कर रही है | 

जब आप किसी बुक या pdf में वैल्यूएशन का अध्ययन करेंगे तब आपको बताया जाता है कि सस्ते वैल्यूएशन के शेयर को खरीदना चाहिए | लेकिन ये सही नहीं है | आपको देखना होता है कि आप द्वारा चुनी गयी कंपनी का सेल्स तथा ग्रोथ कैसी है | यदि उस कंपनी का सेल्स तथा प्रॉफिट लगातार ग्रोविंग है तब उस कंपनी एक PE रेशियो अधिक होगा और ऐसी कंपनी लगातार ग्रो करती रहेंगी | डायवर्सिफिकेशन क्या है ?

इस लेख से सम्बंधित प्रश्नोत्तरी

शेयर मार्केट से अमीर कैसे बने

शेयर बाज़ार में निवेश के निम्न टिप्स का पालन कर आप शेयर बाज़ार से बड़ा पैसा बना सकते है |
1) शेयर बाज़ार की सामान्य जानकारी प्राप्त करें
2) लंबे समय के लिए पैसा निवेश करें
3) शेयर बाजार में गिरावट होने पर निवेश करें
4) बड़ी कंपनी में बड़ा तथा छोटी कंपनी में छोटा निवेश करें
5) तेज़ी से बढ़ रहे कंपनी में निवेश करें
6) भीड़ में निवेश से बचे
7) वैल्यूएशन का एनालिसिस कर निवेश करें

क्या मैं 500 रुपये से शेयर बाजार शुरू कर सकता हूं?

जी महोदय, आप 500 से शेयर बाज़ार में कार्य कर सकते है | शेयर बाज़ार में कुछ शेयर 1 रुपये या उससे भी कम कीमत में मिलते है | आप उन कम्पनियों में निवेश कर सकते है या 500 रुपये से फ्यूचर एंड आप्शन में ट्रेडिंग भी कर सकते है | मेरी बात माने तो यदि आप शेयर बाज़ार में निवेश के इरादे से आये है तब आपको कम से कम 50 हजार रुपये से निवेश की शुरुआत करनी चहिये |

शेयर बाज़ार में निवेश कब करें?

यदि आपको शेयर बाज़ार के ग्रोथ का बढ़िया लाभ लेना है तब आपको शेयर बाज़ार के गिरावट में ही अपनी मनपसंद कंपनी के शेयर खरीद कर निवेश करना चाहिए | जब किसी ख़राब सेंटिमेंट के कारण कंपनी के शेयर निचे गिरते है तब बाज़ार का सेंटिमेंट अच्छा हो जाने पर कंपनी का शेयर उतनी ही तेज़ी से ऊपर भी भागने लगते है |

कैसी कंपनी में निवेश करना सही है?

जिस कंपनी का प्रॉफिट जीतनी तेज़ी से ग्रो करता है उस कंपनी का शेयर उतनी ही तेज़ी से उपर भागता है | इसलिए हमें ऐसी कंपनी में निवेश करना चहिये जो अपने सेक्टर की लीडर कंपनी हो तथा जिनमे ग्रोथ बढिया हो | जैसे – टाइटन कंपनी, बजाज फाइनेंस, polycab, दीपक नाईट्रेट, एस्ट्रल लिमिटेड इत्यादि | शेयर बाज़ार में कुछ कंपनिया ऐसी है जिनका सेक्टर तो ग्रोविंग है लेकिन कंपनी का प्रॉफिट या सेल्स ग्रोविंग नहीं है | ऐसे कंपनी में निवेश से बचना चाहिए | जैसे – विप्रो, इत्यादि |

शेयर बाज़ार में कितने समय के लिए निवेश करें?

किसी भी कंपनी के शेयर में निवेश लंबे समय के लिए करना चाहिए | लंबे समय तक के निवेश का अर्थ एक या दो साल नहीं होता है | लंबे समय तक निवेश का अर्थ 5 वर्ष या उसके ऊपर माना जाता है | कंपनी के शेयर, जब बाज़ार के ख़राब सेंटिमेंट या किसी बाहरी न्यूज के कारण निचे गिरते है तब आपको कंपनी के शेयर में बिकवाली न करके सपोर्ट के लेवल के आस पास खरीदारी करना चाहिए |

शेयर बाज़ार में गिरावट होने पर क्या करें?

यदि आपने उन कंपनियों के शेयर को ख़रीदा है जो फंडामेंटली अच्छी है तो आपको बिलकुल घबराना नहीं चाहिए बल्कि बाज़ार के गिरावट में निवेश के मौके तलाशने चाहिए | जब किसी ख़राब सेंटिमेंट के कारण कंपनी के शेयर निचे गिरते है तब बाज़ार का सेंटिमेंट अच्छा हो जाने पर कंपनी का शेयर उतनी ही तेज़ी से ऊपर भी भागने लगते है | जब कंपनी के फंडामेंटल खराब होने के कारण कंपनी के शेयर में गिरावट हो रहा होता है तब कंपनी के शेयर में निवेश नहीं करना चाहिए | लेकिन जब कंपनी के शेयर में किसी बाहरी कारणों की वजह से गिरावट हो रही हो या गिरावट का कारण अस्थायी हो तब कंपनी के शेयर में निवेश किया जाना उचित होता है |

शेयर मार्केट से अमीर बन सकते हैं क्या?

बिलकुल अमीर बन सकते है | यदि आप उपरोक्त नियमो का पालन करते हुए शेयर बाज़ार में बुद्धिमानी के साथ SIP मोड में निवेश करते रहेंगे तब आप जरूर अमीर बन सकते है | शेयर बाज़ार में निवेश करने से पहले टेक्निकल एनालिसिस तथा फंडामेंटल एनालिसिस करना अत्यंत आवश्यक होता है |

सारांश(Summary):-

मेरे प्रिय पाठकों आज के इस लेख शेयर मार्केट से अमीर कैसे बने / Share Bazar Se Amir Kaise Bane. 7 गोल्डेन टिप्स में हम सबने शेयर बाज़ार में निवेश के 7 महत्वपूर्ण मन्त्र को जाना | यदि आप इन निवेश के मन्त्र का गहराई से पालन करते हुए शेयर बाज़ार में निवेश करेंगे तो निश्चय ही आपको शेयर बाज़ार से बड़ा मुनाफा बना कर अमीर बन सकते है |

मै आशा करता हूँ कि शेयर मार्केट से अमीर कैसे बने से सम्बंधित यह लेख आपको पसंद आया होगा | यदि आपको यह लेख पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें | 

यदि आपके इस लेख से सम्बंधित किसी प्रकार का कोई सवाल हो तो हमें कमेन्ट करें या आप हमें contact@finohindi.com पर मेल कर सकते है | आप हमसे लगातर जुड़े रहने के लिए आप हमारे Facebook पेज, Twitter पेज तथा Telegram चैनल पर हमसे जुड़ सकते है |

🔆🔆🔆🔆🔆

Sharing Is Caring:

हेल्लो दोस्तों, मै पिछले 8 वर्षो से शेयर बाज़ार में निवेश तथा रिसर्च कर रहा हूँ | मै अपने अनुभव को Finohindi के माध्यम से आपके साथ सच्चाई के साथ सीधे तथा साफ शब्दों में बाटना चाहता हूँ | यदि आप शेयर बाज़ार में निवेश, ट्रेड करते है या आपकी शेयर बाज़ार में रूचि है तो आप सही जगह पर है

Leave a Comment

GSM कैटेगरी क्या है / GSM Category Meaning In Hindi तीन काले कौवे कैंडलस्टिक पैटर्न / Three Black Crows Candlestick Pattern Full Details In Hindi बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज / Bombay Stock Exchange को समझे विस्तार से नेशनल स्टॉक एक्सचेंज क्या है? आईये जाने ! इन्वर्टेड हेड एंड सोल्डर कैंडलस्टिक पैटर्न क्या है / Inverted Head And Solder Candlestick Pattern kya hai