ट्रेडिंग कैसे सीखें (Trading Kaise Sikhe) Full Details in Hindi

ज्यादातर नए ट्रेडर ट्रेडिंग की आधी-अधूरी जानकारी से ट्रेडिंग करते है, तथा नियमो का पालन न करने की वजह से अपना बड़ा नुकसान करा लेते है | आज ट्रेडिंग कैसे सीखें (Trading Kaise Sikhe) Full Detail in Hindi के इस लेख में हम जानेंगे कि शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग को किस प्रकार से सीखा जा सकता है | कब ट्रेड लेना चाहिए कब नहीं |

कंपनियों के शेयर IPO (Initial Public Offer) के माध्यम से शेयर बाज़ार में लिस्ट होने के बाद शेयरों में खरीद बिक्री आरंभ हो जाती है | शेयर बाज़ार में  शेयरों की खरीद-बिक्री करने वाले व्यक्ति ट्रेडर या निवेशक कहलाते है |

 

जो व्यक्ति शेयर को खरीद कर माह दो माह के भीतर लाभ /हानि में शेयर को बेच देता है उसे  ट्रेडर तथा जो व्यक्ति शेयर एक वर्षो से अधिक समय तक होल्ड करने के बाद बेचता है उसे निवेशक कहा जाता है | आईये आज Finoहिंदी के इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि ट्रेडिंग कैसे सीखे-Trading Kaise Sikhe  |

ट्रेडिंग कैसे सीखें (Trading Kaise Sikhe) Full Detail in Hindi
 

कोई भी व्यक्ति लाभ कमाने के इरादे से ट्रेडिंग करता है, जिसमें वह किसी कंपनी के शेयर को कम कीमत में खरीद कर अधिक कीमत में बेचने का प्रयास करता है या अधिक कीमत पर बेच कर कम कीमत पर शेयर खरीदने का प्रयास करता है  | अब हम जानेंगे कि आप  ट्रेडिंग, किस प्रकार से सीख सकते है | फ्लैग पैटर्न (Flag Pattern) क्या है?

Table of Contents

ट्रेडिंग कैसे सीखें – Trading Kaise Sikhe

वैसे तो शेयर बाज़ार ट्रेडिंग अपने आप में बहुत बड़ा विषय है परन्तु  करत करत अभ्यास के जडमति होत सुजान “ अर्थात निरंतर प्रयास तथा अभ्यास करने से Trading को बहुत हद तक समझा जा सकता है | यदि आप ट्रेडिंग की दुनियां में नए है तो निम्न चरणों का अनुसरण करने के बाद ही ट्रेडिंग की शुरुआत करें ताकि आपको अधिक से अधिक लाभ तथा कम से कम हानि हो |

पेपर ट्रेडिंग की प्रेक्टिस करें(practice paper treding)

कैश बाज़ार में ट्रेडिंग करने से पहले आपको पेपर पर Trading का अभ्यास करना अति आवश्यक है लाइव शेयर बाज़ार को देखकर पेपर पर Trading करना ही पेपर ट्रेडिंग कहलाता है | 

ट्रेडिंग कैसे सीखें (Trading Kaise Sikhe) Full Detail in Hindi

इसका साधारण सा तरीका है कि जब भी आपको शेयर बाज़ार में  ट्रेड दिखे तो उसके खरीदने की कीमत, स्टॉप लॉस के साथ टार्गेट को एक पेपर पर नोट कर लें | अब टार्गेट या स्टॉप लॉस जो भी हिट हो जाये तो लाभ/हानि नोट कर ले | इस प्रकार आप कम से कम 8 ट्रेड करें

पेपर ट्रेडिंग का चार्ट

क्रम संख्या कंपनीखरीद कीमत टार्गेट स्टॉप लॉसबिक्री कीमतलाभ /हानि 
1A2424.723.724.6लाभ
2B548560540560लाभ
3C241245238238हानि
4D5845591058305910लाभ
5E695708690708लाभ
6F2358238023482380लाभ
7G785798778795लाभ
8H1515.514.715.5 लाभ 

लाभ प्रतिशत = 7/8*100 = 87.5 प्रतिशत

अंत में आठों ट्रेड का आंकलन करें | जब आप 70 प्रतिशत से अधिक ट्रेड में लाभ कमाए तभी कैश में ट्रेडिंग करना आपके लिए उचित होगा, अन्यथा  की दशा में आपको और मेहनत की आवश्यकता है | शेयर प्राइस टारगेट/Share /Share Price Target

ट्रेडिंग से सम्बंधित बुक(Trading book)

सर्व प्रथम आपको यह निर्णय लेना है कि आप किस प्रकार की Trading करना चाहते है | आप जिस प्रकार की भी ट्रेडिंग करना चाहते है उससे सम्बंधित बुक का अवलोकन कर आप ट्रेडिंग के गुर सीख सकते है | आज कल ऑनलाइन बाज़ार में कई प्रकार की बुक(इंट्रा डे Trading की पहचान A टू Z शेयर मार्केट(इंट्राडे) उपलब्ध है जिन्हें आप कुछ फीस देकर खरीद सकते है | तथा ट्रेडिंग के हुनर को सीख सकते है  | 

ट्रेडिंग कोर्स(Trading course)

कई लोग Trading के कोर्स को ऑनलाइन तथा ऑफलाइन क्लास के माध्यम से सिखाते है  | जो व्यक्ति टेक्नोलॉजी का उपयोग कर लेते है वे ऑनलाइन तथा जो व्यक्ति टेक्नोलॉजी का सहारा नहीं लेना चाहते है उनके लिए बहुत सारी कोचिंग संस्थान है जो ट्रेडिंग सम्बन्धी ऑफलाइन क्लास कराती है | आप  इनका सहारा लेकर Tradingके हुनर सीख सकते है | बोनस शेयर क्या है ? What is Bonus Share in Hindi

ट्रेडिंग यू ट्यूब चैनल (Trading youtube channel)

आज के समय में किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने के लिए यूट्यूब  बहुत अच्छा विकल्प है | यू-ट्यूब  पर बहुत सारे लोग अपना यू ट्यूब चैनल बनाकर ट्रेडिंग के बारीकियो को समझाते है तथा ट्रेडिंग सिखाते है | आप  चाहे तो उनका सहारा लेकर ट्रेडिंग सीख सकते है |

टेक्नीकल एनालिसिस का अध्ययन करना(Study Technical Analysis)

किसी भी शेयर में निवेश/ट्रेडिंग करने से पहले उस शेयर के चार्ट का टेक्नीकल एनालिसिस करना अति आवश्यक है | यह हमें बताता है कि किसी शेयर को कब खरीदना तथा बेचना हमारे लिए फायदेमंद रहेगा | शेयर बाज़ार के Trading क्षेत्र में कार्य करने वाले ट्रेडर की सबसे बड़ी कठिनाई ये है कि उन्हें ये नहीं पता होता है कि कोई शेयर कब ऊपर जायेगा तथा कब निचे आयेगा |
 
यदि आप टेक्निकल एनालिस्ट है तो आप शेयर के चार्ट को देख कर/ एनालिसिस कर शेयर के अगली चाल का अंदाजा लगा लेंगे | ट्रेडर के ट्रेड लेने की अलग अलग स्ट्रेटजी होती है | सभी ट्रेडर अपने अपने स्ट्रेटजी के अनुसार ट्रेड लेते है | दुसरे शब्दों में कहा जाय तो ट्रेडर जिस युक्ति से शेयर के अगले मूवमेंट का पता लगते है उसे ही टेक्निकल एनालिसिस कहा जाता है |  Read More…
 

ट्रेडिंग के नियम (Low of Trading)

ट्रेडिंग कैसे सीखें (Trading Kaise Sikhe) के चरण में Trading के नियम का पालन करना अत्यंत आवश्यक है | ट्रेडिंग के नियमो का पालन करने से आपको नुकसान कम से कम तथा प्रॉफिट अधिक से अधिक होगा | इसके अलावा ये नियम आपके अन्दर आपके ट्रेडिंग स्ट्रेटजी पर भरोसा तथा आत्मविश्वास जगाता है |

a) स्टॉप लॉस (Stop loss)

ट्रेडिंग का पहला नियम है की प्रत्येक ट्रेड में स्टॉप लॉस को अवश्य लगाये | ट्रेड लेने के बाद अगर किसी समाचार के कारण आपके शेयर में असामान्य गिरावट/तेज़ी  हो जाये तब स्टॉप लॉस आपको किसी बड़े नुकसान से बचाती है | ज्यादातर नए ट्रेडर स्टॉप लॉस को न लगाकर ट्रेड ले लेते है तथा अपनी सारी पूंजी गवां देते है |

ट्रेडिंग कैसे सीखें (Trading Kaise Sikhe) Full Detail in Hindi

b) क्षमता के अनुसार ट्रेड लें (Trade according to capacity)

हमेशा आपको अपनी क्षमता के अनुसार ट्रेड लेना चाहिए | नए ट्रेडर अपनी सारी पूंजी ट्रेड में लगाकर जल्द से जल्द  बड़ा मुनाफा कमाना चाहते है, जबकि ट्रेडिंग जितना आसान दिखता है उतना आसान होता नहीं है | आपकी एक गलती आपकी सारी पूंजी ले डूबती है, और फिर शेयर बाज़ार को जुआ/भला बुरा कहकर बाज़ार से बाहर हो जाते है | इस लिए एक नए ट्रेडर के लिए बेहतर है कि वे अपनी क्षमता के अनुसार ही ट्रेड करें तथा मार्जिन का प्रयोग कम से कम करें |

c) ट्रेड दिखे तभी ट्रेड लें (Take the trade when you see the trade)

ज्यादातर नए ट्रेडर, ट्रेड लेने के लिए बाज़ार पर नज़रे गडाए रहते है तथा अत्यधिक समय व्यतीत हो जाने के बाद जब ट्रेड नहीं मिलाता है तो भावनाओं के वश में आकर गलत ट्रेड ले लेते है तथा अपना नुकसान करा लेते है | ऐसा बिलकुल नहीं करना चाहिए | यदि दिन भर के बाज़ार में कोई ट्रेड न मिले तो बेहतर है कि उस दिन कोई ट्रेड न करें तथा अगले दिन का इंतजार करें | मल्टीबैगर स्टॉक (Multibagger Stock) को कैसे पहचाने ?

d) ट्रेड  की योजना तैयार करें(Create a trade plan)

ट्रेड लेने से पहले ट्रेडिंग की योजना तैयार कर लेना अतिआवश्यक है | ट्रेड लेने से लेकर स्टॉप लॉस, टार्गेट के साथ ट्रेड से निकलने तक के समय को अपनी योजना में शामिल करे | 

e) गलत ट्रेड न करना भी एक ट्रेड है(Not making a wrong trade is also a trade)

गलत ट्रेड करने से बेहतर है कि ट्रेड न लिया जाय | जब आप कोई गलत ट्रेड ले लेते है तथा अपना नुकसान करा लेते है तो, आपकी पूंजी कम हो जाती है | लेकिन यदि आप उस गलत ट्रेड को नहीं लेते तो आपको नुकसान नहीं होता तथा आपकी पूंजी कम नहीं होती | अतः गलत ट्रेड न लेना भी एक प्रकार से ट्रेड करना होता है, जो आपकी पूंजी को कम नहीं होने देती है |

भावनाओ के वश में कभी ट्रेड न करें:-

कभी कभी ट्रेड करते-करते ट्रेडर का एक पसंदीदा स्टॉक बन जाता है तथा वे सिर्फ इसलिए ट्रेड ले लेते हैं कि उन्हें लगता कि शेयर ऊपर जाने वाला है या निचे आने वाला है | ऐसे में 95 प्रतिशत चांस है कि आप अपना नुकसान करा लेते है | इसलिए जब तक ट्रेडर को उनकी ट्रेडिंग स्ट्रेटजी के अनुसार ट्रेड न मिले तब तक ट्रेड नहीं लेना चाहिए |

आप अपनी ट्रेडिंग स्ट्रेटजी में टेक्निकल एनालिसिस जैसे – सपोर्ट और रेजिस्टेंस, कैंडलस्टिक पैटर्न का सहारा ले सकते है |

रिस्क-रिवार्ड प्रबंधन(Risk-Reward Management)

शेयर बाज़ार अत्यंत जोखिम भरा है | अतः निवेशक हो या ट्रेडर सभी को निवेश या ट्रेड करने से पहले अपने टार्गेट तथा हानि(स्टॉप लॉस) की गणना, ट्रेड लेने से पहले ही कर लेनी चाहिए |
 
कभी-कभी ऐसा होता है की बाज़ार आपके फेवर में ट्रेड कर रहा होता है लेकिन किसी ग्लोबल कारण या न्यूज के कारण बाज़ार का मूवमेंट बदल जाता है | यदि आप स्टॉप लॉस लगाकर अपने हानि को सिमित नहीं करेंगे तो पल भर में आपकी सारी पूंजी खत्म हो जाएगी | 
 
सामान्तः नए ट्रेडर स्टॉप लॉस नहीं लगाते है | वे स्टॉप लॉस को अपने दिमाग में ले कर चलते है तथा उन्हें लगता है की जब शेयर की कीमत वहां पहुचेगा तो वे खुद एग्जिट कर लेंगे | लेकिन ह्यूमन साइकोलॉजी के कारण वे एग्जिट नहीं कर पाते है और अपना बड़ा नुकसान करा लेते है |
 
अतः ट्रेड लेने से पहले आप अपना टार्गेट तथा स्टॉप लॉस अवश्य गणना कर लें तथा ट्रेड लेने के तुरंत बाद अपना स्टॉप लॉस तथा टार्गेट लगा दें | यदि टार्गेट या स्टॉप लॉस  हिट होने के पहले आपको ऐसा लगे की बाज़ार की चाल बदल गयी है या आपका ट्रेड गलत दिशा में जा रहा है तो, आप अपने ट्रेड से एग्जिट ले सकते है | मारुबोज़ू कैंडलस्टिक पैटर्न(Marubozu Candlestick Pattern)
 

इस लेख से सम्बंधित प्रश्नोत्तरी

ट्रेडिंग से पहले क्या करना चाहिए?

यदि आप शेयर बाज़ार में नए है तथा आपने अभी हाल ही में ट्रेडिंग के हुनर को सिखा है तो शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग से पहले आपको पेपर ट्रेडिंग कर खुद को आजमा लेना चाहिए | इससे आपको अपने हुनर पर भरोसा हो जायेगा जिससे आप बाज़ार से भरपूर लाभ कमा सकेंगे |
कैश बाज़ार में ट्रेडिंग से पहले शेयर बाज़ार के चार्ट, सपोर्ट & रेजिस्टेंस, ट्रेडिंग वॉल्यूम तथा टेक्निकल एनालिसिस करना अति आवश्यक है |
ट्रेडिंग करने वाले ट्रेडर को कभी भी अपने ट्रेडिंग के नियम को नहीं तोड़ना चाहिए |

शुरुआती लोगों के लिए कौन सा ट्रेडिंग सबसे अच्छा है?

शुरुआती लोगों के लिए पेपर ट्रेडिंग करना सबसे उचित होगा | पेपर ट्रेडिंग में सफलता मिलने के बाद शेयर बाज़ार के कैश बाज़ार में ट्रेडिंग की शुरुआत कर सकते है |
शुरुआती लोगों के लिए फ्यूचर तथा आप्शन में ट्रेडिंग करना सर्वथा अनुचित है |
फ्यूचर तथा आप्शन में वोलिटिलिटी बहुत अधिक होता है जिसमे आपका एक गलत ट्रेड आपको पल भर में आपको भिखारी बना सकता है |

शेयर मार्केट में 1 दिन में कितना कमा सकते हैं?

यदि आप शेयर बाज़ार के मंझे हुए खिलाडी है तो आप एक दिन के करोड़ो कमा सकते है | यह आपके रिस्क लेने की क्षमता पर निर्भर करता है | जितना बड़ा रिस्क उतना बड़ा प्रॉफिट |

 

आज हमने जाना(Today We Learned)

ट्रेडिंग कैसे सीखें (Trading Kaise Sikhe) Full Detail in Hindi के इस लेख में हमने जाना कि शेयर बाज़ार में अत्यधिक उतार चढाव लगा रहता है अतः यदि आप ट्रेडिंग की दुनिया में अपना कदम रख रहे है तो ट्रेडिंग को अच्छी तरह से सीखने के बाद पहले पेपर ट्रेडिंग करें | तत्पश्चात कैश मार्केट में ट्रेडिंग के सभी नियमो का पालन करते हुए ट्रेडिंगअल्प पूंजी से आरंभ करें जिससे आपकी लर्निंग तथा अर्निंग दोनों होती रहे |

यदि आपके पास ट्रेडिंग कैसे सीखें – Trading Kaise Sikhe से सम्बंधित किसी प्रकार का सवाल हो तो कृपया हमें कमेन्ट करें या हमारे email-contact@finohindi.com पर मेल कर सकते है या हमारी Facebook पेज, Twitter पेज, तथा Telegram पर हमें Follow करें |

🔆🔆🔆
Sharing Is Caring:

हेल्लो दोस्तों, मै पिछले 8 वर्षो से शेयर बाज़ार में निवेश तथा रिसर्च कर रहा हूँ | मै अपने अनुभव को Finohindi के माध्यम से आपके साथ सच्चाई के साथ सीधे तथा साफ शब्दों में बाटना चाहता हूँ | यदि आप शेयर बाज़ार में निवेश, ट्रेड करते है या आपकी शेयर बाज़ार में रूचि है तो आप सही जगह पर है

21 thoughts on “ट्रेडिंग कैसे सीखें (Trading Kaise Sikhe) Full Details in Hindi”

  1. Hi sir mujhe suru se sikhna h tranding kaise kya kare sir mujhe kuch samjh me nhi aa raha hai suruaat kaise kare…. Kya padhai karni chahiye kaun sa book kaun sa course kya mtlb kuch samjh me nhi aa raha hai.

    Reply
  2. Mujhe trading ke bare me pura padhna h kaun kaun si book padhna chahiye starting se padhai karni h kaha se start kru pls pahle candle stick patern padhu pls suggest startling se sikhni h mujhe

    Reply
    • Sir abhi me trading start krrne jaa rha hu toh sabse pahale paper trading me try maru uske baad phir trading kesa krru

      Reply
      • नहीं भाई मुझे ऐसा नहीं लगता है | शेयर बाज़ार में ह्युमन सायकोलॉजी कार्य करती है जो AI नहीं समझ सकता है | ये AI शेयर बाज़ार के इंडिकेटर तथा शेयर के मोमेंटम, सपोर्ट तथा रेजिस्टेंस
        के आधार पर ट्रेड लेता है | मुझे नहीं लगता इस मामले में AI मानव के ब्रेन से टक्कर ले सकता है |
        हमारे इस वेबसाइट पर अपना कीमती समय व्यतीत करने के लिए धन्यवाद

        Reply
    • मेरी वेबसाइट पर अपना समय देने के लिए आपका बहु बहुत धन्यवाद,
      जहाँ तक ट्रेडिंग सीखने की बात है हम बताना चाहते है कि उपरोक्त लेख के अनुसार पेपर ट्रेडिंग के बाद कम पूंजी के साथ ट्रेडिंग का शुरुआत करें | मेरा यकीन मानिये, ट्रेडिंग के नियम सबके लिए समान होता है लेकिन उसका पालन करने के लिए धैर्य सबके पास नहीं होता है, ये धैर्य रखना शेयर बाज़ार ही आपको सिखाती है अतः इसके लिए आपको बाज़ार में कूदना ही पड़ेगा | धन्यवाद

      Reply
  3. मराठी माणसची मदत होईन असा लेख आहे खूप छान आहे धन्यवाद भाऊ

    Reply

Leave a Comment

स्पिनिंग टॉप कैंडलस्टिक पैटर्न / Spinning Top Candlestick Pattern आवधिक कॉल नीलामी क्या है / Periodic Call Auction in Hindi मॉर्निंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न / Morning Star Candlestick Pattern In Hindi GSM कैटेगरी क्या है / GSM Category Meaning In Hindi तीन काले कौवे कैंडलस्टिक पैटर्न / Three Black Crows Candlestick Pattern Full Details In Hindi